Wednesday, August 26, 2020

Poem on Swachh Bharat Abhiyan Hindi

Poem on Swachh Bharat Abhiyan Hindi


स्वच्छ भारत

स्वच्छ होगा भारत सारा
स्वस्थ होगा देश हमारा
मिल जुल कर हम काम करेंगे
देश का ऊंचा नाम करेंगे
घर घर ख़ुशहाली होगी
रात नहीं कोई काली होगी
बेटा बेटी एक समान
फिर चमकेगा हिंदुस्तान



आयो मिलकर करें विचार
साफ़ सुथरा हो हमारा घर द्वार

लेखक  - साकेत खड़कड़

Swachh Bharat Mere Bharat Ka Sapna Hai Poem - 2

स्वच्छता को नहीं अपनाओगे
तो बीमारियां ही लाओगे
यह भारत घर तो अपना है
इसे स्वच्छ बनाने का हमारा सपना है
साफ़ सुथरा मेरा मन
देश मेरा सुंदर बने
स्वच्छता ही उन्नति का आधार है
यही जीवन का सार है

देश की धरोहर है सबका अधिकार
हमने सफाई अभियान को रखना
है हर दिन बरकरार

देश को मानकर घर है अपना
निर्मल स्वच्छ को बरकरार है रखना
यही है हमारे भारत का सपना
इस अभियान को बरकरार है रखना

देश में कूड़ा कर्कट का है अम्बार
हमें सब को मिलकर करना है
इसका सुधार हमें
सभी का ख्याल है रखना
यही मेरे भारत का है सपना

गंदगी को दूर भगाना है
भारत का मान बढ़ाना है
बापू गांधी जी के सपने
को पूरा कर दिखाना है
भारत स्वच्छ बनानां है

*************************

यह भी पढ़ें :  - स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: